Irregular Periods Reasons and treatment in Hindi – महिलाओं के लिए एक सबसे बड़ी समस्या हो जाती है पीरियड्स का सही समय से न आना। यदि इस प्रोब्लम को समय रहते न कंट्रोल किया गया तो इससे गंभीर बीमारियां भी हो सकती हैं। महिलाओं द्वारा ज्यादा तनाव में रहने, डाइटिंग करने, बर्थ कंट्रोल पिल लेने, यूटरस में गठान होने की वजह से पीरिटड्स मिस होते हैं। महिलओं में पीरियड्स मिस होने से कई बार कैंसर जैसी गंभीर बीमारियां हुई हैं।

irregular periods Reasons and treatment in Hindi

अनियमित मासिक धर्म क्या है- What is Irregular Periods in hindi

मासिक धर्म यदि प्रत्येक माह समान अंतराल ( नियमित चक्र की अवधि 21 से 35 दिनों तक हो सकती है) का होता हैं तो यह नियमित माना जाता हैं, और यदि किसी महीने आपका मासिक धर्म नियमित अवधि के अंतराल पर नहीं आता हैं तो इसे अनियमित माना जाता हैं। वैसे देखा जाये तो यह सामान्य प्रक्रिया है कभी-कभी एक या दो बार मासिक धर्म में अनियमितता हो जाने पर ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं है। लेकिन यदि यह लगातार अनियमित रहता हैं तो आपको चिंता करने की जरूरत हैं। क्योंकि अनियमित मासिक धर्म से और कई बीमारियां घर कर लेती हैं।

अनियमित मासिक धर्म के कारण – Reasons of Irregular Periods In hindi

सामान्यतः अनियमित मासिक धर्म को दो प्रमुख कारण हैं जिनमें से पहला ओवरी सिस्ट (पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम PCOS) जो अनियमित मासिक धर्म का प्रमुख कारण हैं. मासिक धर्म के दूसरे कारण बाहरी होते हैं जो इस प्रकार है-

अत्यधिक व्यायाम आदि करना, बजन का ज्यादा बढ़ना या घटना, तनावग्रस्त रहना, हार्मोनल गर्भनिरोधक का असर, गर्भवती होना आदि।

अनियमित मासिक धर्म के घरेलू उपचार – Home Remedies for Irregular Periods in Hindi

10 ऐसे फूड के बारे में जानकारी देनें जा हरे हैं जो पीरियड्स मिस होने की प्रॉब्लम से बचाते हैं।

1-अदरक –अदरक की तासीर गर्म होती है जिस कारण मेटाबॉलिज्म तेज होता है। इससे पीरिएड्स रेग्यूलर होते हैं।

2-अलसी –  इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड्स, लिग्नेंस होते है। इससे भी पीरियड्स समय से होते हैं।

3-पपीता–  इसमें मौजूद पपाइन एस्ट्रोजन हॉर्मोन का लेवल बढ़ाते हैं। इससे पीरियड्स नार्मल होते हैं।

4-दालचीनी – इसमें Hydroxychalcone होते हैं जिससे पीरियड्स डिले नहीं होते हैं।

5-अजवाइन – इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स पेल्विक एरिया में ब्लड फ्लो बढ़ाते हैं। इससे पीरियड्स रेग्यूलर होते हैं।

6-पाइन एप्पल – पाइन एप्पल में मैग्नीशियम होता है जिससे यूटेरस में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है। इससे भी पीरियड्ल टाइम टू टाइम होते हैं।

7-हल्दी – हल्दी में करक्यूमिन की मात्रा ज्यादा होती है। जिस कारण यह ब्लड फ्लो नार्मल रखता है और पीरियड्स भी रेग्यूलर होते हैं।

8-काले तिल- इसीक तासीर गर्म होती है। जो पेल्विक एरिया में ब्लड फ्लो बढ़ाने में मदद करता है जिस कारण पीरियड्स समय से होते हैं।

9-कद्दू के बीज – इसमें मौजूद जिंक, सेलेनियम टेस्टेस्टेरॉन हार्मोन का लेवल बढ़ाते हैं जिस कारण पीरियड्स मिस नहीं होते हैं।

10-फिश- इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड्स होते हैं जिससे एस्ट्रोजन हॉर्मोन का लेवल बैलेंस रहता है। इससे ब्लड सर्कुलेशन इम्प्रूब होता है जिससे पीरियड्स मिस नहीं होते हैं।

नोट- मुझे उम्मीद है कि आपको irregular periods Reasons and treatment in Hindi के बारे में दी गयी जानकारी पसंद आयी होगी। यदि Period lane ke gharelu nuskhe in hindi के बारे में दी गयी जानकारी पसंद आयी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ Facebook पर जरूर शेयर करें