Home Remedies For Prickly Heat – घमौरियां जिन्हे अंग्रेजी में Prikly Heat कहा जाता है। गर्मियों के मौसम अक्सर लोगों को हो जाती हैं। गर्मियों में शरीर में पसीना ज्यादा निकलता हैं यदि उसे साफ न किया जाते तो वह त्वचा पर ही सूख जाता हैं जिस कारण पसीने की ग्रंथियां बंद हो जाती हैं, जिसका परिणाम होता है कि घमौरी होनां प्रारम्भ हो जाती हैं।

घमौरी को वैज्ञानिक भाषा में मिलिएरिया रूब्रा भी कहा जाता हैं। यह एक चर्म रोग हैम जो गर्मी और बरसात के मौसम में लोगों के ज्यादा देखने को मिलता है। घमौरी की पहचान शरीर पर होने वाली छोटी व लाल फुंसिया और दाने है जिमनें खुजली होती रहती है। इनके होनी की एक वजह पेट में कब्ज होना भी है। यह ज्यादातर पीठ, छाती, बगल, हांथ व पाव में ज्याद होती हैं। वैसे तो घमौरी सभी को होती हैं लेकिन बच्चों को कुछ ज्यादा होती हैं। इसलिए उनका गर्मियों में ख्याल रखना बहुत जरूरी होता है। आइये जानते हैं घमौरियों से राहत के लिए घरेलू नुस्ख़े ( Home Remedies For Prickly Heat) के बारे में-

इसे भी पढ़ेपीलिया के लक्षण, कारण व उपाय

Home Remedies For Prickly Heat

घमौरियों के लक्षण – Prickly Heat ( Ghamoriyan) Syptoms

जिस व्यक्ति के घमौरियां हो जाती हैं उसके यह लक्षण दिखाईं देंगे-

  • शरीर में खुज़ली होती है।
  • शरीर पर लाल- गुलाबी, छोटे-छोटे दाने दिखाईं देंगे।
  • शरीर में जलन, कांटे जैसी चुभन महसूस होगी।
  • पसीना अधिक आना।
  • कपड़े चुभना।
  • थकावट महसूस करना।

घमौरियां का उपचार- Prickly Heat Treatment in Hindi

घमौरियों से बचने का सबसे उत्तम तरीका है कि गर्मी से बचें। इसके साथ ही कुछ अन्य उपाय भी हैं जि निम्न प्रकार हैं-

  • पानी का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें।
  • बाहर से आने के कुछ समय बाद ही स्नान करें।
  • रोजाना सुबह के समय नीम की 4-5 पत्तियां चबाएं।
  • मसालेदार भोजन का सेवन करने से परहेज करें। सादा भोजन ही करें।
  • सिंथेटिक फैब्रिक से बने वस्त्रों को ही धारण करें।
  • सूती और ढीले कपड़ों को पहने।
  • शरीर में हवा लगने दें।
  • शरीर पर मुल्तानी मिट्टी का लेप करें।
  • घमौरियां होने पर नीम की पत्तियों को पानी में उबालकर इस पानी से नहायें।
  • नारियल के तेल में कपूर मिलाकर पूरे शरीर में लगाकर मालिश करें।
  • कैलामाइन लोशन का उपयोग करें।
  • जब शरीर गीला हो तो पाउडर( Talk)  न लगाएं।

घमौरियां से बचने के लिए घरेलू नुस्खे- Home Remedies for Prickley Heat in Hindi

ओटमील (Oatmeal )

 घमौरियों से राहत पाने का सबसे पहला नुस्खा है ओटमील। इससे घमौरियों में होने वाली जलन ( Inflammation ), चुभन और खुज़ली (itching) से आराम मिलता है। इसके लिए एक टब ठंडे पानी में ओटमील को मिला लें और जब पानी दूधिया हो जाये  तब इसमें करीब 30 मिनट तक बैठे रहें। इसे रोज़ाना दिन में दो बार करें।

बर्फ से सिकाई

घमौरियों में यदि ठंडी सिकाई की जाये तो तेजी से आराम मिलता है। इसके लिए एक कपड़े में बर्फ रख कर घमौरियों वाली जगह करीब 10 मिनट तक सिकाई करें। यह प्रक्रिया 4-5 घंटे में एक बार जरू करें इससे घमौरियो में राहत मिलेगी।

चंदन पाउडर ( SandalWood Powder )

चंदन का पाउडर भी घमौरियों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। इसके लिए चंदन के पाउडर में पानी को मिलाकर लेप तैयार कर लें। इस लेप को घमौरियों पर लगाएं। इसके अलावा पाउडर को ऊपर से छिड़क कर भी यूज कर सकते हैं।

मुल्तानी मिट्टी ( Fuller’s Earth )

मुल्तानी मिट्टी भी घमौरियों के लिए बहुत ही लाभदायक होती है। इसके लिए करीब 5 चम्मच मुल्तानी मिट्टी में गुलाब जल मिलाकर लेप तैयार कर लें, अब इस लेप को घमौरियों पर लगायें ऐसा प्रतिदिन एक बार जरूर करें। तेजी से आराम मिलेगा।

एलोवेरा ( Aloevera)

एलोवेरा के पत्तों का गूदा लें उसे घमौरियों वाली जगह करीब 20 मिनट लगाकर रखें इसके उपरांत उसे धो लें। ऐसा प्रतिदिन दो बार जरूर करें घमौरियां ठीक हो जायेंगी।

बेसन ( Gram Flour)

बेसन का लेप भी घमौरियों में बहुत आराम देता है। इसके लिए थोड़ा बेसन लें उसमें कुछ पानी मिलाकर लेप बना लें और इस लेप को प्रभावित जगह 10 से 15 मिनट तक लगाकर रखें। बेसन शरीर का तेल सोख लेता हैं जिससे घमौरियों के दाने जल्दी सूख जाते हैं। इस उपाय को प्रत्येक दिन एक बार करीब एक सप्ताह तक करें। घमौरियां ठीक हो जायेंगी।

खीरा- (CuCumber)

खीरा ठंडा होता हैं जिससे घमौरियों में राहत मिलता है। इसके लिए खीरे के पतले-पतले टुकड़े काटकर नींबू मिले ठंडे पानी में कुछ देर तक भिगोकर रखें। इसके बाद खीरा के टुकड़ों को घमौरियों वाले स्थान पर कुछ समय तक रखें। इससे घमौरियां तेजी से ठीक होती हैं साथ ही खुजली और जलन में भी राहत मिलती है।

नोट- उम्मीद है आपको Home Remedies For Prickly Heat in Hindi के बारे में दी गयी जानकारी पसंद आयी होगी । इन घमौरियों से राहत के लिए घरेलू नुस्ख़े अपने दोस्तों के साथ Facebook आदि सोशल साइट पर शेयर करना नहीं भूलें।

इसे भी पढ़ें- क्या आपका भी पेट फूलता हैं तो लें यह डाइट