Cough & Cold Treatment in Hindi – सर्दी ओर जुक़ाम एक आम बीमारी है लेकिन यदि इस पर ध्यान न दिया जाये तो यह एक भयंकर बीमारी का रूप भी ले लेत है जिसमे व्यक्ति का जुकाम बिगड़कर साइनोसाइटिस, निमोनिया, गले में इन्फेक्शन इदि अनेक बीमारियों का रूप ले लेता है। जुकाम को सर्दी जुकाम, नजला के नाम से भी जाना जाता है।

Cough-And-Cold-Treatment-in-Hindi

सर्दी और जुकाम के लक्षण – Cold and Cough symptom in Hindi

  • आवाज भारी हो जाना।
  • छींक आना
  • नांक का बंद होना
  • नाक से पानी आना।
  • नाक से बलगम का गिरना
  • सिर भारी-भारी लगना साथ ही सिर में दर्द होना।
  • गला में दर्द महसूस होने के साथ छिला हुआ लगना।
  • बदन दर्द
  • आंखों से पानी का आना

जुकाम होने के कारण – Cough And Cold Causes

मुख्यतः सर्दी हिनोवायरस(rhinovirus) से फैलती है जो सर्दी को 10 से 40 प्रतिशत तक शरीर में प्रवेश कराता है। इसके अलावा कोरोनावायरस(Coronavirus) भी करीब 20% तक सर्दी के लिए जिम्मेदार होता है। इनके साथ ही रेसपीरेटरी सिंसीटायल वायरस (respiratory syncytial virus) एवं पैराइंफ्लूएंजा वायरस (parainfluenza virus) भी करीब 10 प्रतिशत सर्दी के लिए जिम्मेदार होता है।

इसके अलावा सर्दी और जुकाम संक्रमण के कारण भी फैलती है। जब कोई संक्रमित व्यक्ति या उसके द्वारा यूज की गयी चीजों को कोई दूसरा व्यक्ति यूज कर लेता है या सम्पर्क में आ जाता है तो यह वायरस उस व्यक्ति के शरीर में प्रवेश कर जाता है।  जिससे उसके शरीर में बलगम आदि बनना शुरू हो जाता है जिस कारण गला और नाक पूरी तरह प्रभावित हो जाते हैं।

 इनके साथ ही सर्दी और जुकाम के अन्य कारण भी है –

  • गरम स्थान से ठंडे स्थान में चले जाना या ठंडे स्थान से गरम स्थान पर चले जाने के कारण।
  • धूल, धुँआ, प्रदूषण, मौसम में बदलाव आदि भी मुख्य कारणों में से एक है।
  • जिस स्थान पर आप ज्यादा समय व्यतीत करते हों वहां सीलन होना।
  • बहुत तेज परफ्यूम या तेल का उपयोग करना।
  • शरर की प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होना।
  • वायरस एवं बेक्टीरिया के कारण इन्फेक्शन होना।
  • बहुत ज्याद ठंडी वस्तुऔं का सेवन कर लेना।
  • सर्दी जुकाम से बचाव
  • जुकाम से पीड़ित व्यक्ति से दूर रहना।
  • ठंड आदि से बचना।
  • बार-बार हाथ धुलते रहना।
  • मुंह व नाक पर मास्क लगाकर रखना।
  • संक्रमित व्यक्ति की वस्तुओं को शेयर करने से बचें।
  • सुबह खड़े होकर नंगे पैर नहीं चलें।
  • ठंडे से गरम व गरम से ठंडे स्थान पर जाने से बचें।
  • सर्दी और जुकाम का उपचार – Cough and cold treatment)
  • स्वास्थ्यवर्धक खाने के साथ पेय पदार्थ का सेवन ज्यादा करें।
  • ज्यादा से ज्यादा आराम करें।
  • नाक पर बाम आदि लगायें जिससे नाम खुलेगी और आराम मिलेगा।
  • कुछ भी खाने-पीने से पहले अच्छी तरह हाथ साफ जरूर करें।
  • गरम पानी में नमक डालकर गरारे करते रहें।
  • गरम पानी में विक्स डालकर भाप लें इससे गले एवं नासिका में चिपका हुआ कफ ढीला होकर निकल जायेगा।
  • संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने से बचें।
  • ठंडी और बाहरी चीजों का सेवन करने से बचें।

आइए जानते हैं, सर्दी जुकाम से बचाव के घरेलू नुस्खे (Home Remedies for Cough and Cold)

  1. अदरक, हल्दी पाउडर व 1 बड़ी चम्मच शहद लेकर मिलाकर इसका सेवन करें इससे जुकाम, सिर दर्द और शरीर दर्द में आराम मिलेगा।
  2. अदरक के छोटे-छोटे टुकड़े करके या कुचलकर एक कप पानी में डालकर उबाल लें। इस घोल का सेवन दिन में 2-3 बार करें। या फिर अदरक के रस में शहद और नींबू के रस को मिलाकर पियें कफ में आराम मिलेगा।
  3. गिलोय के काढ़े में तुलसी, कालीमिर्च, लौंग एवं शहद डालकर पीना सर्दी, जुकाम, बुखार में बहुत उपयोगी है।
  4. एक चम्मच शहद में आधा चम्मच प्याज का रस मिला लें और इसको मिलाकर दिन में 2-3 बार सेवन करें इससे कफ और गले की खराश में आराम मिलेगा।
  5. गर्म पानी या सूप पीएं ये गले की सूजन (throat sweeling) के लिए फायदेमंद है
  6. तुलसी, अदरक, कालीमिर्च एवं लोंग की चाय नजला ,जुकाम, सर्दी खाँसी में बहुत फायदेमंद है।
  7. शहद व लौंक के तेल में लहसुन की दो से तीन कली को महीन पीस कर मिला लें। इसका थोड़ा-थोड़ा सेवन दिन में कई बार करने से आराम मिलेगा।
  8. तुलसी और अदरक का थोड़ा रस निकालकर गरम करके गुनगुना रहने पर थोड़ा शहद मिलाकर लेना फायदेमंद है।
  9. दो चम्मच नीबू का रस लें व एक चम्मच शहद को लेकर मिला लें और इसको थोड़ा गर्म कर लें। इस मिश्रण को दिन में 3-4 बार लेते रहे आराम मिलेगा।
  10. आधा कप गर्म पानी को उबाल कर उसमें एक चम्मच काली मिर्च पाउडर (black pepper powder), एक चम्मच हल्दी पाउडर और एक चम्मच शहद को मिला लें. अब इस घोल को 2-3 मिनट तक उबाल लें और इसका नियमित सेवन करें आराम मिलेगा।