बवासीर होने के कारण, लक्षण और उससे बचने के उपाय

0
94
views

Piles Symptoms and Treatment in hindi : बवासीर(Piles) ऐसी बीमारी है जिसमें एनस के अंदरूनी हिस्से में या बाहर कुछ मस्से जैसे बन जाते हैं। इन मस्सों से कई बार खून निकलता है और दर्द भी होता है। कभी-कभी जोर लगाने से मस्से बाहर की तरफ आ जाते हैं। एक्सपर्ट्स की माने तो बवासीर की समस्या अनियमित खान-पान और कब्ज और लाइफस्टाइल के कारण ज्यादा होती है इसके साथ ही जेनेटिक प्रॉब्लम भी हो सकती है। इस बीमारी को पाइल्स, अर्श और मूलव्याधि के नाम से भी जाना जाता है। यह बहुत ही पीड़ादायक रोग होता है।

इसे भी पढ़ेजाने क्यो होती है डायबिटीज, लक्षण एवं उससे बचने के उपाय

जानते हैं बवासीर(Piles) होने की 5 प्रमुख बजह

1-बवासीर होने का सबसे बड़ा कारण कब्ज होता है। पेट के सही तरीके से साफ न होने से एनस में मस्से पड़ सकते हैं।

2-बवासीर होने का दूसरा सबसे बड़ा कारण सिटिंग वर्क होता है। बैठे-बैठे ज्यादा देर तक काम करने से पाइल्स की समस्या हो सकती है।

3-प्रेग्नेंसी के समय डाइजेशन की प्रॉब्लम होती है इससे भी कई महिलाओं में पाइल्स की समस्या हो जाती है।

4-खराब लाइफस्टाइल भी इसका एक प्रमुख कारण होता है। जैसे सिगरेट, शराब, जंक फूड आदि ज्यादा लेने से डाइजेशन बिगड़ता है जिस कारण पाइल्स हो सकते हैं।

5-आनुवांशिक यानि फैमिली में किसी को ये प्रॉब्लम रही है तो अगली पीढ़ी में भी इसके होने की संभावना रहती है।

इसे भी पढ़े- जानें कौच के बीज के फायदे 

बवासीर(Piles) के लक्षण-

  • चलने-फिरने और उठने-बैठने पर एनस में अत्यधिक दर्द होना होना।
  • मल त्यागने के दौरान कष्ट का आभास होना।
  • एनस में बार-बार खुजली होना।
  • मलत्याग के बाद खून का आना।
  • मल त्यागने के समय मस्सों का बाहर आना।

बवासीर(पाइल्स) से बचाव के उपाय-

  • बवासीर होने का सबसे बड़ा कारण सिटिंग वर्क होता है। इसलिए ज्यादा देर तक बैठे न रहें बीच-बीच में टहलें और हल्का व्यायाम करें।
  • खाने-पानी के आद्तों में बदलाव जैसे रेशेदार सब्जियों, फलों, सलाद आदि का रोजाना सेवन करें, क्योंकि रेशेदार सब्जियां कब्ज की समस्या को दूर कर देती हैं।
  • बैगन और आलू से बनी सब्जियां कम खायें।
  • धूम्रपान, शराब और नशीले पदार्थों से बचें।
  • पपीता, आम और अंगूर का सेवन अधिक करें।
  • इस रोग की सबसे बड़ी बजह कब्ज होती है तो ज्यादा स्पाइसी और ऑयली भोजन न करें। दिन में ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं साथ ही चाय व कॉफी का भी कम प्रयोग करें।

बवासीर(Piles) से छुटकारा पाने के कुछ आयुर्वेदिक नुस्खे-

  • बवासीर(Piles) में खून को रोकने के लिए 10 ग्राम काले तिल को मक्खन में मिलाकर खाली पेट खाने से बवासीर में पूरा आराम मिलता है।
  • नीम के कोमल पत्तियों को घी में भूनकर उसमें थोड़ा कपूर डालकर पाइल्स के मस्सों पर लगाएं। आराम मिलेगा।
  • आधा चम्मच हरड़ पाउडर रोज गुनगुने पानी के साथ लेने से पाइल्स की प्राब्लम में फायदा मिलता है।
  • प्रत्येक दिन दही खाने से बवासीर(Piles) में फायदा मिलता है।
  • आक(अकउआ) या मदार के दूध में हल्दी पाउडर मिलाकर मस्सों पर लगाएं। इससे मस्से कुछ ही दिनों में सूखकर गुर जायेंगे।
  • पुदीना, अदरक, नीबू का रस और शहद को पानी में मिलाकर प्रतिदिन सेवन करने से फायदा मिलता है।
  • काली मिर्च और काला जीरा का पाउडर आधा चम्मच रोज शहद के शाथ लेने से बवासीर(Piles) में राहत मिलती है।
  • लौकी के पत्तों को पीसकर पाइल्स के मस्सों पर रोजाना लगाने से कुछ ही दिनों में फायदा मिलने लगता है।
  • 125 ग्राम मूली के रस में 100 ग्राम देशी घी की जलेबी एक घंण्टा भीगने दें। उसके बाद जलेबियों को खाकर उसका रस पी जाएं। ऐसा करीब एक सप्ताह करने से सभी प्रकार के बवासीर जीवभर के लिए समाप्त हो जायेगा।
  • तुलसी के पत्तों को पानी के साथ पीसकर मस्सों पर लगाने से जलन में राहत मिलती है साथ ही मस्से ठी होते हैं।
  • आंवला पाउडर पानी में घोलकर रात भर मिट्टी के बर्तन में रखें। सुबह चिरचिटा की जड़ और मिश्री मिलाकर पीने से फायदा मिलता है।
  • करेले के बीजों का महीन पाउडर शहद और सिरका मिलाकर मस्सों पर लगाने से करीब 20 दिनों में मस्से सूख जाते हैं।
  • कच्ची प्याज को धीमी आंच पर भून लें। इसका पेस्ट बनाकर मस्सों पर लगाने से कुछ ही दिनों में फायदा होता है।
  • चाय की पत्तियों को पीसकर पेस्ट बना लें  और गर्म करके मस्सों पर लगायें कुछ ही दिनों में मस्से सूख जायेंगे।
  • यदि किसी भी प्रकार की समस्या हो तो किसी आयुर्वेद फिजीसियन से मिलकर सलाह जरूर लें।

इन्हे भप पढ़े-

Previous articleShahi Tukda Recipe-शाही टुकड़ा
Next articleBaingan Bharta Recipe – बैगन भरता

नमस्कार मैं Foodandhealths.com की Founder हूं और इस ब्लॉग पर मैं आपको Food Recipes और Healths tips से सम्बन्धित Article पोस्ट करती हूं. यदि आपके पास भी कोई रेसिपी है तो इस Mail [email protected] पर अपनी रेसिपी जरूर भेजें, जिससे मैं आपके नाम सहित रेसिपी को पोस्ट कर सकूं. धन्यबाद

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here