लू लगने के लक्षण और उससे बचने के लिए घरेलू उपाय

0
32
views

लक्षण-

इसस शरीर की ऊष्मा नियंत्रण विधि विफल हो जाती है तथा शरीर का तापमान ज्यादा बढ जाता है। इसमें रोगी की आंखें लाल हो जाती है, सिर चकराने लगता है, बैचेनी, सिर-दर्द, जी मचलाना, ऐंठन, त्वचा सूखी होना, नाड़ी की गति बढना और कई बार तो लू लगने से व्यक्ति बेहोश हो जाता है।

लू से बचने के घरेलू उपाय-

1-तुलसी के रस में हल्का नमक मिलाकर कहीं जाने से पहले पी लें, इससे लू नहीं लगेगी, अधिक पसीना नहीं आयेगा और प्यास भी कम लगती है।

2-लू लगने पर ठण्डे पानी में बर्फ और गुलाब जल मिलाकर माथे पर कपड़े की पट्टी रखें आराम मिलेगा।

3- प्याज को भूनकर उसे पीस लें और उसमें जीरे का चूर्ण और मिश्री मिलाकर खाने से लू का प्रभाव समाप्त हो जाता है।

4-खरबूजे के बीजों को पीसकर सिर पर व शरीर पर लेप लगायें। इसके साथ इससे बनी हुई ठण्डाई भी लाभदायक है।

5-जौ का सत्तू पानी में मिलाकर (नमकीन या मीठा) गर्मी में पीने से लू नहीं लगती है।

6-गर्मियों को मौसम में पुदीने की चटनी तथा प्याज का नियमित सेवन करने से लू लगने की संभावना कम रहती है।

7-लू लगने पर या शरीर में जलन होने पर जौ के आटे में पानी मिलाकर पतला लेप पूरे शरीर में लगाने से आराम मिलता है।

8-गर्मियों के मौसम में मुलहठी का शर्बत पीने से लू नहीं लगती है।

9- ताजा छाछ(मट्ठा) पिलाने से रोगी को पेशाब ज्यादा आयेगी और लू में राहत मिलेगी।

10-यदि रोगी को उल्टियां या दस्त हो रहे है तो नीबू पानी में नमक या शक्क्र मिलकर थोड़ी-थोड़ी देर में पिलायें आराम मिलेगा।

11-आलूबुखारे को गरम पानी में डालकर रखें और फिर उसी जल में मसल लें। लू लगने पर इसको पीने से घबराहट और बैचेनी में आराम मिलता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here